-->
Haunted Story in Hindi | Horror Story in Hindi 2020

Haunted Story in Hindi | Horror Story in Hindi 2020

Haunted Story in Hindi | Horror Story in Hindi 2020

Haunted Story in Hindi, Horror Story in Hindi 2020

हेलो मेरे प्यारे दोस्तों कैसे है आप। आशा करता हु आप सब अच्छे होंगे। तो आज में आप सभी के लिए एक डरावनी कहानी Haunted Story in Hindi लेके आया हु। आशा करता हु यह कहानी आपको डराएगी भी और आपको अच्छी भी लगेगी। तो चलिए दोस्तों शुरू करते है हम अपनी आज की कहानी Horror Story in Hindi 2020.

तो दोस्तों यह घटना तब की है जब 4 दोस्त कैम्पिंग करने के लिए राजस्थान के घने जंगलो में गए थे। राजस्थान जो की मशहूर है अपने हॉन्टेड जगहों की Haunted Story in Hindi के लिए जिसमे से राणा कुम्भ महल, नाहरगढ़ किला, बृजराज भवन, और भानगढ़ का किला मशहूर है। दिन था 16 जनवरी 1990 का जब 4 दोस्त जिनका नाम मुकेश, अमन, टीटू, रमेश था कैम्पिंग के मकसद से राजस्थान के जंगलो में गए थे। परन्तु उनको यह नहीं पता था की उनकी कैम्पिंग उनके जीवन की आखरी कैम्पिंग होगी और उनकी कहानी Horror Story in Hindi 2020 बन जाएगी। तो चलिए हम आपको अपनी कहानी में आगे ले करके चलते है।

रमेश और टीटू जोकि दिल्ली में अपनी जॉब कर रहे थे। और अमन आगरा में कार्यरत था। इन सभी का दोस्त मुकेश जोकि मुंबई में अपनी जॉब कर रहा था। 13 जनवरी को मुकेश ने अमन को फ़ोन करके कही घूमने जाने को कहा। तब अमन ने रमेश और टीटू को भी साथ चलने को कहा। टीटू ट्रैकिंग, कैम्पिंग करने का बोहोत शौकीन था। जिस वजह से टीटू ने सभी को कैम्पिंग करने के लिए राजस्थान चलने को बोला। सभी का प्लान बनते ही 14 तारिक को वह सब राजस्थान जाने के लिए निकल पड़े। रास्ते मे जाते-जाते रमेश और अमन Khatarnak Horror Story और Bhoot ki Kahani in Hindi पढ़ते हुए जा रहे थे। राजस्थान पहोचते-पहोचते रात हो गयी थी। तो एक रात काटने के लिए वह सब होटल में रूम लेकर आराम करने के लिए रुक गए। 

15 जनवरी की सुबह वह सब जंगल जाने के लिए होटल से निकल ही रहे थे की तभी होटल के एक स्टाफ मेंबर से उन्होंने पुरानी भूतिया हवेली Haunted Story in Hindi के बारे में सुना। और यह बात टीटू के दिमाग में मानो घर कर गयी और उसको उस हवेली में जाने की इच्छा हुई। पर हवेली भूतिया होने की वजह से होटल के स्टाफ ने उनको मना करते हुए बोला। वहा जाने के बारे में आप सोचना भी मत क्यों की जो-जो उस हवेली के पास भी गया है उसके बाद वह जिन्दा वहा से नहीं लोटा। और वह भूतिया हवेलीके बारे मे कई Horror Story in Hindi 2020 है। पर सब अंध्विश्वास मानते हुए टीटू ने उसकी बात अनसुनी कर दी। 

परन्तु इतने विशवास से होटल स्टाफ के द्वारा दी गयी चेतावनी को बाकि 3 दोस्तों ने अनसुना नहीं किया। क्युकी उन्हें Haunted Story in Hindi, Horror Story in Hindi 2020 पर विश्वास था। यह सब सुनने के बाद वह चारो दोस्त जंगल की ओर चले गए। दोस्तों यकीन मानिये वह जंगल अंदर से बेहद डरावना ओर सुनसान था। इतना सुनसान जंगल देख कर रमेश , सुरेश ,अमन ,और टीटू भेहद डर गए। पर अपने कैम्पिंग के टूर को ओर रोमांचक बनाने के लिए टीटू ने सभी को उसी घने जंगल में कैंप लगाने को कहा। 

जंगल में रहने लायक जगह ढूंडते-ढूंडते दिन के करीब 2 बज चुके होंगे। अब उन चारो को भूक लग चुकी थी। अपने साथ लाया गया खाना पकाने के लिए लकड़ियों का इंतजाम करने के लिए रमेश,और अमन अपने कैंप से थोड़ी दूर लेने चले गए। पिने का पानी उनके पास प्रयाप्त नहीं था। जिस वजह से मुकेश पानी की तलाश में जंगल के थोड़ा ओर अंदर चला गया। 

टीटू खाना बनाने के लिए वहीं कैंप में अकेला रह गया। अब वह खाना बनाने के लिए अपने बैग से सामान बहार निकाल रहा होता है की तभी टीटू को उसकी ओर आती हुई कुछ हलचल महसूस होती है। हलचल जानने के लिए टीटू पीछे मुड़ता है। ओर जंगली जानवर की हलचल समझ करके टीटू उस हलचल को नज़र अंदाज़ कर देता है। अब वह जब दुबारा बैग से सामान निकालने के लिए झुकता है। तो वह देखता है की उसके बैग के पास एक लकड़ी का खिलौना पड़ा है जोकि दिखने में बहुत पुराना जान पड़ता है। वह उस खिलौने को लात मारकर दूर फेक देता है। दोस्तों यकीन मानिये यह Haunted Story in Hindi सब से बेस्ट Horror Story in Hindi 2020 है। 

Haunted Story in Hindi, Horror Story in Hindi 2020

मुकेश पिने का पानी भरकर ले आता है। थोड़ी देर के बाद बाकि दोनों दोस्त सुरेश और अमन खाना बनाने के लिए और रात के कैंप फायर करने के लिए भी लकड़ी लेकर आजाते है।

दिन का खाना खाने के बाद चारो दोस्त जंगल घूमने के लिए अपने साथ अपना कैमरा भी ले जाते है। ताकि वह Horror Story in Hindi for Reading सब रिकॉर्ड कर सके। रमेश कैमरा से शूट करते हुए सबसे पीछे चल रहा है। और टीटू निडर बनकर सबसे आगे चल रहा है। चारो दोस्त घूमते घूमते जंगल के बिच एक घने पेड़ के निचे जा पहुंचते है, उस पेड़ पर कई काले रंग वाली गुड़िया कील से टंगी हुई थी। यह सब उन चारो दोस्तों के लिए एक अनोखा अनुभव था। जिस वजह से सुरेश ने वह सब कैमरा में कैद करने की कोशिश करि। 

अब जैसे ही सुरेश  ने कैमरा खोला तो उसे कमरे में एक परछाई दिखने का अहसास हुआ जिस वजह से सुरेश के हाथ से कैमरा झटक के निचे गिर गया। कैमरा निचे गिरने की आवाज़ सुन कर बाकि तीन दोस्त पीछे मुड़कर देखते हैं तो उनको सुरेश के चेहरे पर एक अलग भाव दिखता है। और यहाँ से हमारी Haunted Story in HindiHorror Story in Hindi 2020 की सुरवात होती है। 

टीटू सुरेश से पूछते हुए बोलता है, भाई क्या हुआ ?
सुरेश हिचकिचाते हुए बोलता है, पता नहीं यार मुझे एक साया दिखने का एहसास हुआ और मुझे ऐसा महसूस हो रहा है की मनो इस पेड़ से हमें कई आँखे देख रही है। मेरी मानो तो यहां से चलते है। 

टीटू को लगता है की सुरेश हमे डाराने की कोशिश कर रहा है। टीटू हस्ते हुए बोलता है, अबे जाना डरपोक। जब  इतना डरता है तो जंगल में आया ही क्यों। ऐसा बोलके तीनो दोस्त हसने लगते है। वह सुरेश की बोली गयी  Haunted Story in Hindi  को मजाक समझने लगते है। 

थोड़ी देर के बाद सूरज ढलने लगता है शाम होने लगती है। अब वह चारो दोस्त अपने कैंप की ओर चलने लगते है। सुरेश के चहरे पर अभी भी डर का मंजर दीखता है। 

अब रात का खाना बनाने के लिए टीटू लकड़ी जलाने के लिए माचिस निकालता है। वह माचिस से आग जलाने की कोशिश करता है जब तक वह माचिश जलाता तब तक वह भुज जाती। उनके साथ कुछ Horror Story in Hindi 2020 होने वाला था। ऐसा कई दफा होने के बाद उसको समझ नहीं आरा था की ऐसा क्यों हो रहा है। फिर थोड़ी देर के बाद परेशान हो कर उसने अमन से लाइटर माँगा। लाइटर से उसने लड़किया जलाई। अब वह खाना बनाने लगा ही था की तभी उनके पिने का पानी गलती से मुकेश से गिर गया । अब वह सब बेहद परेशान हो गए थे क्युकी उनके पास पिने के लिए पानी नहीं है। 
 
सब ने मिलकर सुरेश को पानी लेने के लिए भेजा। सुरेश जोकि अभी भी शाम को घटी घटना से चिंतित था। वह अकेला डरा-डरा टॉर्च ले कर पानी लेने को जंगल के अंदर चला गया। अब सुरेश को अलग-अलग, तरह-तरह की आवाजे सुनने को मिलती है। कभी उसको उसके कंधे पर काफी भार महसूस होता तो कभी पेरो के निचे से किसी के होने का एहसास। अब सुरेश समझ गया था की इस जंगल में कुछ घटने वाला है। तभी उसके सामने एक भूतिया साया आकर खड़ा हो जाता है। जोकि लम्बे बालो में बिना आँख वाली थी उसका शरीर आधा जला हुआ था। 

उस साया को अपनी आँखो से देखने के बाद सुरेश के होश उड़ गए। सुरेश ने बेहद तेज चिल्लाया ओर वही बेहोश हो गया। Horror Story in Hindi 2020 उसकी आवाज सुन कर अमन, टीटू और मुकेश सुरेश को ढूंढ़ने के लिए जंगल के अंदर भागे। आदि रात को पूरा जंगल छान लेने के बाद उन्हें सुरेश कही नहीं मिला। तो उन्हें लगा की सुरेश को किसी जंगली जानवर ने मार दिया है। यह सोचते-सोचते टीटू की हालत ख़राब होने लगी थी क्यों की जंगल में कैंपिंग करने का सारा प्लान टीटू ने बनाया था।  

जब वह तीनो वापस अपने कैंप की और आ रहे होते है तो वह देखते है सुरेश आग के सामने बैठ कर खाना खा रहा है। यहाँ से Haunted Story in Hindi का दूसरा अध्याय शुरू होता है। यह देख कर वह सब दंग रहे गए इसका कारण था सुरेश के खाना खाने का तरीका। वह बेहद अजीब तरीके से खाना खा रहा था। दोनों हाथो पर खाना सना हुआ था। मुँह पर एक बड़ी और अजीब सी हस्सी। आँखो पर लाली मानो जैसे आँख से खून की धारा बहे रही हो। यह सब देख कर टीटू और बाकि दोस्त बड़े डर गए क्यों की सुरेश को उन्होंने पहले कभी ऐसे नहीं देखा था। 

अब टीटू और मुकेश हलके हलके कदमो से सुरेश की ओर बड़ रहे थे। जैसे ही टीटू ने सुरेश के कंधे पर हाथ रखा उसी समय सुरेश की गर्दन पूरी गोल घूम गयी। और टीटू को देख कर बोहोत तेज हसने लगा। सुरेश ने जो भी खाना खाया था वह सब टीटू के उपर उगल दिया। सुरेश की आँखे जो की पूरी अंदर की ओर पलट गयी थी। वह देख मुकेश, टीटू और अमन बोहोत डर गए। मानो Haunted Story in Hindi देख ली हो। अब उन्हें समझ आने लगा था की सुरेश के उपर किसी भूत का साया चढ़ चूका है। जो की हम सब की मोत का कारण होगा। इतने में सुरेश जिसके शरीर में भूत ने अपना पूरा कब्ज़ा कर लिया था उसने निचे से वही लकड़ी का खिलोना उठाया जिसको टीटू ने लात मार कर दूर फेक दिया था। 

इतने में सुरेश काफी तेज आवाज में चिलाने लगा उसने मारवाड़ी जोकि राजस्थान की बोली है उन शब्दो मे बोला की Horror Story in Hindi 2020 तुम सब ने यहाँ आ कर बोहोत बड़ी गलती कर दी है मे तुममे से किसी को नहीं छोडूंगा। आज रात तुम सब मारे जाओगे। यह बोलते ही सुरेश ने अपने हाथ मे पकडे लड़की के खिलोने के एक तरफ से जोकि बोहोत नोकीला था वह गले के अंदर मार दिया। और सुरेश की मोत उसी समय हो गयी। 

Haunted Story in Hindi, Horror Story in Hindi 2020

सुरेश के मरते ही टीटू, अमन और मुकेश वहा से भागने लगे रात काफी अँधेरी थी। और हड़बड़ाहट मे वह सब बिना किसी दिशा के बिच जंगल मे भागने लगे। भागते भागते वह तीनो जंगल के बिच इस्थित एक महल मे जा पोहोचे। दोस्तों यह वही पुरानी भूतिया हवेली थी जिसका जिक्र होटल के स्टाफ ने करा था। डर के मारे उन्हें यह याद नहीं रहा और वह उस पुरानी भूतिया हवेली के अंदर चले गए। 

अंदर उन्हें एक लालटेन पकडे एक आदमी दीखता है। यहाँ से अब हमारी कहानी Haunted Story in Hindi का तीसरा अध्याय शुरू होता है। वह सब उससे रहने के लिए मदत मांगते है। लालटेन वाला आदमी अपना परिचय देते हुए बताता है की में इस पुरानी हवेली का केयर टेकर हु। यह हवेली महाराणा चंद्र प्रकाश का है जोकि की विदेश मे रहते है। यह सब सुन कर उन तीनो दोस्तों ने उनसे रहने के लिए एक कमरा माँगा। वह तीनो कमरे मे बैठ कर सुरेश के साथ जो हुआ उसके बारे मे सोच रहे थे। 

मुकेश हाथ मुँह धोने के लिए बार्थरूम मे जाता है। वह नलका चलाता है। परन्तु उसमे से पानी नहीं आता तो मुकेश जोर से उस नलके पर हाथ मारता है यह सोच कर की शायद पानी आने लगे। परन्तु पानी की जगह उस नलके मे से काफी सारे भारी संख्या मे कीड़े बहार आने लगते है। यह देख कर मुकेश की चीख निकल जाती है। चीख सुन कर अमन बार्थरूम की ओर भागता है तो वह मुकेश को डरा हुआ देखता है। अमन के पूछने पर मुकेश बताता है की उसने नलके से बोहोत सारे कीड़े उसकी ओर आते हुए देखे। 

इस बात की पुष्टि करने के लिए अमन नलके के पास जाता है वह देखता है की वह कोई कीड़े नहीं है ओर पानी सही से आरा है। फिर जब अमन यह बात मुकेश को बताता है की उसको सायद वहम हुआ होगा तो मुकेश फिर नलके की ओर चला जाता है। नलके से पानी को आते देख मुकेश हाथ मुँह धोने के लिए पानी हाथ मे भरता है। थोड़ी देर हाथ मुँह धोने के बाद वह देखता है की उसके हाथ लाल हो चुके है अपनी सकल आईने मे देख कर वह बोहोत दंग रहे जाता है की क्युकी उसकी मुँह से लाल खून की धार बहे रही होती है। Bhoot ki Kahani in Hindi वह बोहोत डर जाता है। जी मचलाने की वजह से मुकेश को कीड़े भरी खून की उल्टी हो जाती है। 

मुकेश बार्थरूम से बहार आजाता है। और बिना कुछ बोले बिस्तर पर लेट जाता है। और अमन और टीटू भी आराम करने के लिए लेट जाते है। 

16 जनवरी की सुबह जोकि उन सभी दोस्तों के लिए के लिए आखरी सुबह थी। 

सुबह होते ही टीटू और अमन वापस घर जाने के लिए त्यार हो रहे होते है की तभी उन्हें एक आवाज सुनाई देती है। और जैसे ही वह पीछे मूढ़ कर देखते है तो वहा पर उन्हें मुकेश उल्टा बैठा हुआ दीखता है। और अमन मुकेश को त्यार होने के लिए बोलता है। मुकेश उनसे बोलता है आज हम यहाँ से वापस नहीं जा पाएंगे उसकी आवाज मे अलग वजन देख कर अमन और टीटू हैरान हो जाते है।

टीटू मुकेश से बोलता है, भाई ऐसे क्यों बोल रहा है ? क्या तुझे घर वापस नहीं जाना ? 
इतने मे मुकेश हस्ते हुए बोलता है की नहीं ना मे कही जाऊंगा और ना ही तुम्हे कही जाने दूंगा। 

इतना बोलते है मुकेश जिस खुर्सी पर बैठा था वह उसके साथ हवा मे उड़ने लगता है। हवा मे मुकेश को यु उड़ता देख अमन और टीटू कमरे से बहार भाग जाते है भागते भागते उनकी नजर हवेली मे टंगे फोटो फ्रेम पर पड़ती है जिस फोटो पर महाराणा चंद्र प्रकाश और उनकी पत्नी और वह नौकर होता है जो उन सभी दोस्तों को रात को मिला था। हैरानी की बात तो यह थी की उस फोटोफ्रेम पर तारीख 16 जनवरी 1680 की थी। इसका मतलब यह था की जो उन्हें उस रत को लालटेन लिए आदमी मिला था वह आदमी नहीं आत्मा थी। इसका मतलब उस आदमी ने उन्हें Horror Story in Hindi for Reading सुनाई थी। 

फोटोफ्रेम देखने के बाद जैसे ही टीटू और अमन पलटे उनके सामने अचनाक से मुकेश के शरीर मे वह आत्मा आ खड़ी हुई। उसने टीटू और अमन को गले से पकड़ कर निचे फेक दिया। मुकेश अमन के उपर बैठ गया और उसने अमन के गले मे अपने नोकीले नाखुनो को घुसा कर उसकी आँख बहार निकाल दी। अमन की मोत हो चुकी थी। और टीटू इतने मे दरवाजे से बहार भागने की कोशिश करने लगा। मुकेश ने टीटू को सर के बालो से पकड़ कर दूर फेख दिया टीटू के बाल उखड चुके थे सर से खून बहे रहा था। टीटू सीढ़ियों के रास्ते बार्थरूम तक पोहचता है। वह अपने आप को बचाने के लिया बरतरूम को अंदर से बंद कर देता है। 

टीटू घूम कर देखता है तो मुकेश की बॉडी वहा पर पड़ी हुई होती है मुकेश की मौत हो चुकी होती है। टीटू को बेहद दुख होता है की वह कैंपिंग करने के लिए यहाँ आये ही क्यों। इतने में टीटू को सससससस की आवाज आती है। वह आगे पीछे मुड़ कर देखता है तो वह कोई नहीं होता है। Khatarnak Horror Story इतने मे उसके सर के उपर से वह आत्मा उसके पास आती है। और हस्ते हुए बोलती है देख इधर तेरे सारे दोस्तों की आत्मा तुझे बुला रही है चल इनके साथ। इतना बोलते ही वह आत्मा टीटू की गर्दन पूरी मोड़ देती है और इस प्रकार टीटू की भी मौत हो जाती है। 

उसके बाद उस घने जंगल मे और उस पुरानी भूतिया हवेली मे उन चारो दोस्तों की आत्मा भी कैद होकर रहे जाती है। 

तो दोस्तों इस प्रकार हमारी Horror Story in Hindi 2020 कहानी का अंत होता है। आशा करता हु आप सभी को यह कहानी अच्छी लगी होगी। 

Haunted Story in Hindi | Horror Story in Hindi 2020

0 Response to "Haunted Story in Hindi | Horror Story in Hindi 2020"

टिप्पणी पोस्ट करें

If you have any doubts. Please let me know

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel